Home क्रिकेट WTC FINAL 2023: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज इयान चैपल ने बताया, क्यों...

WTC FINAL 2023: ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज इयान चैपल ने बताया, क्यों भारतीय टीम को नहीं माना जा सकता है जीत का दावेदार

1478

WTC FINAL 2023: इंडियन प्रीमियर लीग के 16वें सीजन का रोमांच पूरी तरह से छाया हुआ है, लेकिन इसी बीच यहां पर टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच अगले महीनें 7 से 11 जून के बीच होने वाली आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मैच को लेकर चर्चाएं तेज हो गई हैं। इंग्लैंड के द ओवल में खेले जाने वाले इस मैच को लेकर लगातार अब भविष्यवाणी का दौर तेज होता जा रहा है, जिसमें पूर्व दिग्गजों की अपनी-अपनी अलग-अलग राय देखने को मिल रही है।

WTC FINAL 2023
WTC FINAL 2023

इयान चैपल ने भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया की तुलना में माना कमजोर

इसी बीच भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच इस खिताबी जंग को लेकर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान इयान चैपल ने अपनी बात रखी है, जिसमें उन्होंने इस मैच को लेकर कईं तरह की बात साझा की है। इयान चैपल ने भारतीय टीम को इस मैच में ऑस्ट्रेलिया की तुलना में कमजोर करार दिया है, उन्होंने इसके पीछे बुमराह और पंत का ना होना वजह बतायी है।

ये भी पढ़े- WTC FINAL 2023: आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल को लेकर रिकी पोंटिंग की बड़ी भविष्यवाणी, इस टीम को बताया जीत का दावेदार

WTC FINAL 2023
WTC FINAL 2023

WTC फाइनल में चैपल ने बताया भारत को पंत और बुमराह की कमी खलेगी

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी इयान चैपल ने ईएसपीएन क्रिकइंफो पर कॉलम लिखा जिसमें उन्होंने लिखा कि जसप्रीत बुमराह और ऋषभ पंत की चोटें भारत को बुरी तरह प्रभावित करेंगी क्योंकि इन दोनों के खेलने से वे प्रबल दावेदार होते। ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या की कुछ हद तक आश्चर्यजनक अनुपलब्धता भी भारत को नुकसान पहुंचाती है क्योंकि वह उनके लिए अंतिम कड़ी को जोड़ने का काम कर सकते थे।

इसके बाद उन्होंने अपने इस कॉलम में आगे लिखा कि, “यह भविष्यवाणी करने के लिए एक कठिन मैच है,  ऐसा मुख्य रूप से चोटों की चिंताओं के कारण है और इस साल की शुरुआत में एक कड़ी सीरीज खेलने के बाद से दोनों में से किसी ने भी कोई टेस्ट नहीं खेला है।“

स्पिन में भारत लेकिन पेस अटैक ऑस्ट्रेलिया का मजबूत

उन्होंने आगे लिखा कि “स्थिति और मुश्किल होगी क्योंकि इससे जुड़े अधिकांश खिलाड़ी एकमात्र टेस्ट से पहले सिर्फ आईपीएल में खेले हैं। हालांकि यह आदर्श तैयारी नजर नहीं आती। ऑस्ट्रेलिया का तेज गेंदबाजी आक्रमण भारत से थोड़ा बेहतर है जबकि स्पिन विभाग में रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम का पलड़ा भारी है।“

इसके बाद चैपल ने लिखा कि अगर पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क और जोश हेजलवुड की ऑस्ट्रेलिया की शीर्ष तेज गेंदबाजी तिकड़ी उपलब्ध है तो यह उन्हें थोड़ा प्रबल दावेदार बनाता है, वे किसी भी समय अच्छे गेंदबाज हैं लेकिन जून की शुरुआत में इंग्लैंड के हालात उनके अनुकूल होने चाहिए। मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज और उमेश यादव की मौजूदगी वाला भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण भी मजबूत है और विकेट लेने की क्षमता में ऑस्ट्रेलियाई तिकड़ी से थोड़ा ही पीछे है। एकमात्र टेस्ट में मानसिक मजबूती अहम होगी।

जो टीम सबसे अधिक लचीलापन प्रदर्शित करती है, उसके जीतने की संभावना तब तक अधिक होगी जब तक प्रतियोगिता खराब मौसम से प्रभावित नहीं होती है। बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करेगा कि बल्लेबाज प्रतिभाशाली विरोधी तेज गेंदबाजों का सामना कैसे करते हैं, ऑस्ट्रेलिया स्टीव स्मिथ, मार्नस लाबुशेन और उस्मान ख्वाजा की बड़े स्कोर बनाने की क्षमता पर काफी अधिक निर्भर है लेकिन डेविड वार्नर की अनदेखी नहीं की जानी चाहिए।