Home क्रिकेट Virat on Rohit: ‘ वो सीढ़ियों पर बैठा रो रहा था, मेरी...

Virat on Rohit: ‘ वो सीढ़ियों पर बैठा रो रहा था, मेरी भी आंखों में थे आंसू’  विराट कोहली ने जीत के बाद का अहसास किया बयां

191

Virat on Rohit: टीम इंडिया के चैंपियंस के वतन वापसी के बाद गुरुवार को मुंबई में विक्ट्री परेड निकाली गई। आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2024 के खिताब को अपने नाम करने वाली टीम इंडिया गुरुवार को ही भारत पहुंची, जिसके बाद शाम को मुंबई के नरीमन पॉइंट्स से लेकर मरीन ड्राइव से होते हुए वानखेड़े स्टेडियम तक चैंपियंस की विक्ट्री परेड निकाली गई। जिसमें अपने चैंपियंस के एक दीदार को पाने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। इस विक्ट्री परेड में चैंपियंस ओपन बस में फैंस को चीयर करते हुए नजर आए।

Virat on Rohit
Rohit Sharma-Virat Kohli

विक्ट्री परेड के बाद विराट कोहली ने स्पीच में बयां किया जीत का अहसास

विक्ट्री परेड आखिरकार वानखेड़े स्टेडियम पहुंची और यहां पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जहां चैंपियंस के लिए स्टेज सजाया गया और यहां उन्हें स्पीच देने का भी मौका मिला। स्पीच के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली ने टी20 वर्ल्ड कप जीतने के बाद के अहसास को बयां किया। जिसमें उन्होंने एक बहुत ही खास वाकया सुनाया, जब रोहित शर्मा जीत के बाद सीढ़ियों पर बैठकर रो रहे थे, उसी वक्त कोहली भी रोते हुए उन्हें गले मिले। इस नजारें को हर किसी ने देखा, और इसे कोहली ने अपनी जुबां से बया किया।

Virat on Rohit
Virat Kohli

ये भी पढ़े-Team India: बारबाडोस में फंसे वर्ल्ड चैंपियंस को वतन वापसी कराने के लिए पहुंचा था इंडिया से खास प्लेन, इस प्लेन को अब मिला नया नाम

जब रोहित सीढ़ियों पर बैठे रो रहे थे, मेरी आंखों में भी थे आंसू- कोहली

विक्ट्री परेड के बाद जब वानखेड़े स्टेडियम में विराट कोहली ने स्पीच दी तो इस दौरान उन्होंने कहा कि, “मैंने 15 सालों में पहली बार रोहित शर्मा को इतना भावुक होते देखा। जब मैं सीढ़ियां चढ़ रहा था तो वह रो रहा था और मैं भी रो रहा था। फिर हमने एक दूसरे को गले लगाया। मेरे लिए वह बहुत खास याद रहेगी। मुझे लगता है कि हमने जिम्मेदारी उठाई और ट्रॉफी को यहां वापस लाने से अच्छा कुछ भी नहीं।”

2011 वर्ल्ड कप के बाद सीनियर्स क्यों थे भावुक, अब हुआ अहसास- कोहली

इसके बाद विराट कोहली ने साल 2011 के वनडे वर्ल्ड कप की जीत का याद किया। उस वक्त कोहली बिल्कुल युवा खिलाड़ी थे। खिताब जीतने के बाद टीम इंडिया के तमाम सीनियर्स खिलाड़ी भावुक हो गए थे और रो रहे थे। कोहली ने उस पल को लेकर कहा कि 2011 वनडे वर्ल्ड कप जीतने के बाद वह ये समझ नहीं पाए थे कि सचिन तेंदुलकर सहित टीम के सीनियर प्लेयर्स रो क्यों रहे हैं? लेकिन अब जब वह खुद टीम के सीनियर प्लेयर हैं, तो उन्हें इस बात का एहसास हुआ।