Home क्रिकेट आईसीसी क्रिकेट टी20 विश्व कप 2022 T20WC 2022: सुपर-12 के पहले हफ्ते के बाद इन दो टीमों के...

T20WC 2022: सुपर-12 के पहले हफ्ते के बाद इन दो टीमों के फाइनल खेलने की है सबसे ज्यादा संभावना, जानें टीम इंडिया कितने चांस?

949

ऑस्ट्रेलिया में खेले जा रहे आईसीसी टी20 विश्व कप 2022 का कारवां लगातार अपने पूरे शबाब पर है, जहां हर दिन के बाद स्थिति बहुत ही रोचक होती जा रही है। एक के बाद एक होते जा रहे उलटफेर और बारिश की बाधा के बीच ये टूर्नामेंट सुपर-12 के दूसरे राउंड के पहले हफ्ते में ही बहुत ही दिलचस्प हो चुका है, जहां प्रबल दावेदार मानी जाने वाली कई टीमों की स्थिति मुश्किल होती जा रही है।

T20 World Cup
T20 World Cup (Source_Sportsnile)

सेमीफाइनल की रेस हो चुकी है दिलचस्प

इस विश्व कप के सुपर-12 में पहला हफ्ता बहुत ही रोमांचक साबित हुआ है, जहां कई टीमों को बड़े-बड़े झटके लगे हैं, तो कुछ टीमों ने अप्रत्याशित परिणाम देकर चौंकाया है। इसका सीधे तौर पर कुछ बड़ी टीमों की संभावना पर फर्क पड़ा है, अब स्थिति ये हो चली है कि सेमीफाइनल की होड़ में कई टीमें एक साथ आ खड़ी हुई है।

ग्रुप-1 में न्यूजीलैंड के पूरे चांस, दूसरी टीम के लिए 3 दावेदार

ग्रुप-1 में मेजबान ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड जैसी बड़ी दावेदार टीमें हैं, तो वहीं इनके साथ ही श्रीलंका, अफगानिस्तान और आयरलैंड भी चुनौती पेश कर रही हैं। जिसमें अगर देखा जाए तो अब तक का समीकरण ये बन रहा है कि इसमें श्रीलंका और अफगानिस्तान की आगे की राह मुश्किल हो चुकी है, लेकिन वहीं आयरलैंड पूरी तरह से होड़ में बनी हुई है।

इनमें से असली मुकाबला ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच चल रहा है, जिसमें न्यूजीलैंड ने भी 3 मैचों में 5 अंक के साथ ही लगभग अपनी स्थिति सेमीफाइनल के लिए मजबूत कर ली है, ऐसे में अब इस ग्रुप में 1 स्थान के लिए ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच बहुत ही रोचक मुकाबला होगा।

ग्रुप-2 में भारत के भी मजबूत आसार, नंबर-2 के लिए फाईट है टाईट

अब नजर डालते हैं ग्रुप-2 पर जिसमें भारत, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका के अलावा जिम्बाब्वे, बांग्लादेश और नीदरलैंड की टीमें हैं। यहां पर दावेदार में से एक पाकिस्तान की स्थिति थोड़ी चिंताजनक हो चुकी है। जिन्हें अपने पहले दोनों ही मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। तो वहीं जिम्बाब्वे ने अपने प्रदर्शन से हैरान किया है। जिससे उन्होंने भी इस ग्रुप में स्थिति को काफी रोचक बना दिया है।

इस ग्रुप में भारत की टीम पूरे फ्लो के साथ सेमीफाइनल की तरफ बढ़ रही है, अंक हैं, लेकिन अब दूसरे स्थान दक्षिण अफ्रीका भी काफी शानदार प्रदर्शन कर रही है, जो एक भी मैच नहीं हारी है। उनके भी 2 मैचों में 3 अंक हैं। और वो भी सेमीफाइनल में पहुंचने की कतार में मजबूती के साथ खड़ी है। पाकिस्तान के लिए राह मुश्किल है, लेकिन नामुमकिन नहीं है। वहीं चांस तो जिम्बाब्वे और बांग्लादेश के भी कम नहीं माने जा सकते हैं, लेकिन उनके लिए इतना आसान नहीं होने वाला है।

अब तक के प्रदर्शन के आधार पर कौनसी टीम हो सकती है फाइनलिस्ट

क्रिकेट अनिश्तिताओं का खेल है जिसमें अंत तक कुछ भी नहीं कहा जा सकता है, ऐसे में हम किसी भी टूर्नामेंट में ना तो सेमीफाइनल में पहुंचने वाली टीमों का नाम निश्चित कर सकते हैं, ना ही फाइनल के लिए और ना ही फाइनल जीतने वाली टीम का नाम बता सकते हैं, लेकिन प्रेडिक्शन जरूर कर सकते हैं, कि कौनसी टीम सेमीफाइनल या फाइनल खेल सकती है।

वैसे सेमीफाइनल में भी पहुंचने वाली टीम अपना दिन होने पर किसी भी बड़ी टीम को मात देकर खिताबी जंग में अपना नाम तय कर सकती है, लेकिन हम यहां पर थोड़ा सा प्रदर्शन और मौजूदा समीकरण के आधार पर 2 फाइनलिस्ट टीमों की स्थिति साफ करने की कोशिश करते हैं।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जा सकता है खिताबी मुकाबला

ये कुछ भी नहीं कहा जा सकता है कि कौनसी 4 टीमें अंतिम-4 में प्रवेश करेंगी। और इनमें से कौनसी वो 2 टीमें होंगी, जो 13 नवंबर को फाइनल जंग में आमने-सामने होंगी।

लेकिन अब तक के प्रदर्शन को देखे तो और इसके आधार पर प्रेडिक्शन करें तो ग्रुप-1 न्यूजीलैंड और ग्रुप-2 की भारत को फाइनल खेलते हुए देखा जा सकता है। क्योंकि जिस अंदाज में न्यूजीलैंड की टीम खेल रही है, उनका ग्रुप-1 में पहले स्थान पर आना तय है। वहीं ग्रुप-2 में टीम इंडिया प्रदर्शन के आधार पर टॉप कर सकती है।

IND VS NZ(Source_India Today)

जिसके बाद ग्रुप-1 की टीम ग्रुप-2 की दूसरे नंबर की टीम के साथ खेलेगी, वहीं ग्रुप-2 की शीर्ष टीम ग्रुप-1 की दूसरी टीम के साथ सेमीफाइनल में टक्कर लेगी। ऐसे में इतना तो तय है कि इन दोनों ही टीमों के बीच सेमीफाइनल में तो आमना-सामना नहीं होगा।

अब रही बात फाइनल में इन दोनों ही टीमों के आपस में खेलने के प्रेडिक्शन की तो इस समय दोनों ही टीमें अब तक जिस अंदाज में खेल रही हैं, उन्हें रोक पाना बहुत ही मुश्किल दिख रहा है। ऐसे में इनके फाइनल में खेलने की भविष्यवाणी की जा सकती है, बाकी तो वक्त ही बताएगा कि कौनसी वो 4 टीमें होंगी, जो सेमीफाइनल खेलेंगी और इनमें से कौन वो 2 टीमें रहेंगी, जो फाइनल में पहुंचेंगी।