Home क्रिकेट Ambati Rayudu: ‘मुझे दी गई गालियां, मानसिक रूप से किया गया परेशान...

Ambati Rayudu: ‘मुझे दी गई गालियां, मानसिक रूप से किया गया परेशान और मेरे करियर को कर दिया बर्बाद ’ रिटायरमेंट के बाद अंबाती रायडू ने किया हैरतअंगेज खुलासा

121

Ambati Rayudu: इंडियन प्रीमियर लीग का 16वां सीजन हाल ही में संपन्न हुआ है। पिछले ही महीनें खत्म हुए इस मेगा टी20 लीग में चेन्नई सुपर किंग्स ने गुजरात टाइटंस को खिताबी जंग में हराकर टाइटल अपने नाम किया। चैंपियन टीम चेन्नई सुपर किंग्स के अनुभवी बल्लेबाज अंबाती रायडू ने इस जीत के साथ ही अपने करियर को भी अलविदा कह दिया। 37 साल के अंबाती रायडू ने क्रिकेट करियर को बाय-बाय करने के कुछ दिनों बाद ही एक सनसनीखेज खुलासा किया है, भारतीय क्रिकेट में भूचाल ला देगा।

Ambati Rayudu
Ambati Rayudu

अंबाती रायडू ने संन्यास के बाद कर डाला बड़ा खुलासा

भारतीय टीम के इस पूर्व बल्लेबाज ने संन्यास के बाद एक बड़ा खुलासा किया है। इस इंटरव्यू में उन्होंने बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष शिवलाल यादव से लेकर हैदराबाद क्रिकेट संघ और भारत के पूर्व चयनकर्ता एमएसके प्रसाद हर किसी को आड़े हाथ लेते हुए इन पर बड़े गंभीर आरोप लगाए हैं। रायडू ने शिवलाल यादव को अपने करियर के बर्बाद होने में सबसे बड़ा हाथ बताया है।

Ambati Rayudu
Ambati Rayudu

ये भी पढ़े- WTC FINAL 2023: फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया और टीम इंडिया में क्या रहा सबसे बड़ा फर्क, रिकी पोंटिंग ने बताया एक खास अंतर

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष पर लगाया अपना करियर खराब करने का आरोप

एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में अंबाती रायडू ने कहा कि, शिवलाल यादव ने अपने बेटे (अर्जुन यादव) के लिए मुझे बर्बाद किया। शिवलाल अपने बेटे को आगे बढ़ाना चाहते इस कारण उन्होंने मेरा करियर खराब किया। मैं जब क्रिकेट में अपनी शुरुआत की थी तभी से हैदराबाद क्रिकेट में राजनीति शुरू हो गई थी। शिवलाल यादव अपने बेटे अर्जुन यादव को टीम इंडिया में एंट्री दिलाने के मुझे परेशान किया। मैं अर्जुन से बेहतर खेल रहा था इस कारण में मुझे लगातार परेशान किया गया।

मुझे गालियां दी गई, मानसिक रूप से किया गया प्रताड़ित

इसके बाद रायडू ने आगे खुद के हैदराबाद क्रिकेट को छोड़कर आन्ध्रप्रदेश का रूख करने की वजह भी इसी राजनीति को माना। उन्होंने आगे कहा कि 2003-04 में मैं इंडिया ए टीम में शामिल था। इस टीम की ओर से मैंने धमाकेदार खेल दिखाया था लेकिन अगले साल ही सेलेक्शन कमेटी में शिवलाल यादव के खास लोग शामिल हो गए। अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद मेरी कईं साल तक बात नहीं की गई। इस दौरान शिवलाल के भाई ने मुझे परेशान करते हुए गालियां तक दी। मुझसे कोई (टीम के साथी खिलाड़ी) बात नहीं करता था और अगर कोई मेरे लिए आवाज भी उठाता था तो उसे टीम से बाहर कर दिया जाता था। इन सबसे परेशान होकर मैंने हैदराबाद छोड़कर आंध्र प्रदेश से खेलना शुरू किया।

2019 के विश्व कप में तैयार रहने को कहा, लेकिन नहीं चुना गया टीम में

अंबाती रायडू का 2019 वनडे विश्व कप की टीम में जगह ना देने का भी दर्द छलका। जहां उन्हें विश्व कप से पहले लगातार नंबर-4 पर मौके दिए जा रहे थे, लेकिन वर्ल्ड कप के स्क्वॉड में उन्हें एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने नहीं चुना। इसे लेकर उन्होंने एमएसके प्रसाद पर निराशा साधा और कहा कि, करियर के शुरुआती दौर में चयन समिति के सदस्य के साथ कुछ मुद्दे थे, जो शायद विश्व कप 2019 में टीम से बाहर होने के कारणों में से एक हो सकता है। बीसीसीआई  के अधिकारियों ने 2018 में मुझे 2019 वनडे विश्व कप के लिए तैयार रहने को कहा था। लेकिन, मुझे 15 सदस्यीय टीम में जगह नहीं दी गई थी।