Home क्रिकेट IND vs SA T20 World Cup 2024 Final: टीम इंडिया ने कर...

IND vs SA T20 World Cup 2024 Final: टीम इंडिया ने कर दिया कमाल, 17 साल बाद टी20 वर्ल्ड कप को जीतकर दोहराया इतिहास

297

IND vs SA T20 World Cup 2024 Final: साल 2007 के बाद एक लंबे इंतजार को आखिरकार टीम इंडिया ने खत्म करते हुए टी20 वर्ल्ड कप का खिताब जीत लिया है। भारतीय क्रिकेट टीम ने आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2024 के फाइनल मैच में दक्षिण अफ्रीका को रोमांचक मुकाबला में 7 रन से हराकर भारतवर्ष के करोड़ों लोगों को खुशी से सारोबार कर दिया। टीम इंडिया ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए देशवासियों को करीब 11 साल बाद खुशी से झुमने का मौका दिया है।

T20 World Cup 2024
Indian Cricket Team

टीम इंडिया ने तोड़ा 11 साल का तिलिस्म, 7 रन से जीता फाइनल

खिताबी जंग में टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी करने उतरी, उन्होंने अपने निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 176 रन का स्कोर खड़ा किया। जिसके बाद साउथ अफ्रीका की टीम टारगेट का पीछा करते हुए फाइनल मैच को अपने नाम करने की पूरी कोशिश तो की, लेकिन आखिर में वो फिर से चोकर्स साबित हुए और 20 ओवर में 8 विकेट पर 169 रन ही बना सके और मैच को 7 रन से गंवा दिया। तो वहीं टीम इंडिया ने 11 साल बाद आईसीसी के खिताब को जीतकर देशवासियों को बड़ी सौगात दी।

ये भी पढ़े-T20 World Cup 2024 Final: भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच खिताबी मुकाबला 29 नहीं बल्कि होगा 30 जून को! ये हो सकती है वजह

विराट-अक्षर के दम पर टीम इंडिया ने बनाए 176 रन

टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीता और पहले बैटिंग करने का फैसला किया। भारतीय टीम की शुरुआत काफी खराब रही और सिर्फ 34 रन के स्कोर तक रोहित, पंत और सूर्या तीनों ही चलते बने। इसके बाद अक्षर पटेल को बैटिंग में प्रमोट किया गया। पिछले मैच के हीरो रहे अक्षर ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और विराट कोहली के साथ मिलकर टीम को 100 के पार पहुंचा दिया। अक्षर पटेल 31 गेंद में 47 रन बनाकर रन आउट हुए। इसके बाद कोहली ने हाथ खोले और अपना पचास करने के बाद कुछ शॉट्स खेले। कोहली ने 59 गेंद में 76 रन की पारी खेली और वहीं शिवम दुबे ने 16 गेंद में 27 रन बनाकर टीम इंडिया के स्कोर को 20 ओवर में 7 विकेट पर 176 रन तक पहुंचा दिया। केशव महाराज और एनरिच नॉर्किया ने 2-2 विकेट झटके।

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 169 रन पर रोका, जीत लिया खिताब

दक्षिण अफ्रीका खिताब अपने नाम करने के लिए 177 रन के टारगेट को हासिल करने उतरी। दक्षिण अफ्रीका के लिए रीजा हैन्ड्रीक्स और क्विंटन डी कॉक पारी की शुरुआत करने तो उतरे, लेकिन हैन्ड्रीक्स और कप्तान मार्करम 2 ओवर में ही चलने बने। खराब शुरुआत के बाद क्विंटन डी कॉक और ट्रिस्टन स्टब्स ने पारी को संभाला और तीसरे विकेट के लिए तेज गति से 58 रन जोड़कर मैच को फिर से रोचक बना दिया। स्टब्स खराब शॉट सेलेक्शन पर 21 गेंद में 31 रन बनाकर बोल्ड हो हुए। यहां से क्विंटन डी कॉक और हेनरिक क्लासेन ने पारी को 100 के पार पहुंचा दिया, लेकिन डी कॉक भी 39 रन बनाकर आउट हो गए, लेकिन इसके बाद हेनरिक क्लासेन और डेविड मिलर की जोड़ी ने लगभग दक्षिण अफ्रीका को जीत की मंजिल तक ले गए। आखिरी 5 ओवर में 30 रन ही बनाने थे, इसके बाद हार्दिक ने खतरनाक दिख रहे क्लासेन का विकेट लेकर वापसी करवा दी। इसके बाद तो जसप्रीत बुमराह की हैरतअंगेज गेंदबाजी ने दक्षिण अफ्रीका को मैच से बाहर कर दिया। आखिर में हार्दिक ने मिलर को सूर्यकुमार यादव के चमत्कारिक कैच की बदौलत खिताबी जीत की स्क्रिप्ट को पूरा किया। टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को 20 ओवर में 8 विकेट पर 169 के स्कोर पर थाम लिया और 7 रन की जीत से इतिहास रच दिया।