T20 world cup
T20 world cup(Source_Jagran Josh)

T20WC 2022: ऑस्ट्रेलिया में इन दिनों क्रिकेट का रोमांच अपने चरम पर है। आईसीसी टी20 विश्व कप अपने पूरे शबाब पर है, जिसका फुल डॉज फैंस के तड़के को और भी जायकेदार बना रहा है। 16 अक्टूबर से शुरू इस महाकुंभ का पहला राउंड खेला जा रहा है, जहां क्वालिफायर टीमें अपना दमखम दिखाते हुए टॉप-12 में पहुंचने के लिए जी जान से जुटी हैं।

इन 4 टीमों को माना जा सकता है खिताब का मोस्ट फेवरेट

इस टूर्नामेंट की वास्तविक शुरुआत 22 अक्टूबर से होने वाले दूसरे राउंड से मानी जा रही है, सुपर-12 के लिए टॉप-8 टीमें पूरी तरह से तैयार हैं, जो केवल और केवल अपने अभियान के आगाज का इंतजार कर रही हैं। इसी बीच इन दिनों क्रिकेट पंडित अपने-अपने भविष्यवाणी में लगे हुए हैं।

एक तरफ जहां क्रिकेट एक्सपर्ट अंतिम चार में पहुंचने वाली टीमों का प्रेडिक्शन कर रहे हैं, तो दूसरी तरफ कुछ ऐसे क्रिकेट एक्सपर्ट भी हैं जो सीधे तौर पर चैंपियन बनने वाली टीम का नाम बता रहे हैं, इन सबके बीच आपको हम हमारी इस रिपोर्ट में बताते हैं इस टी20 विश्व कप इवेंट की वो 4 टीमें जो हैं खिताब जीतने की सबसे प्रबल दावेदार, तो डालते हैं इन चार टीमों को रैटिंग के हिसाब से संभावना पर एक खास नजर…

ये भी पढ़ें: T20WC 2022: टीम इंडिया के सेमीफाइनल के चांस को लेकर भारत के इस महान खिलाड़ी का चौंकानें वाला बयान, सुनकर आप रह जाएंगे हैरान

#4. पाकिस्तान

आईसीसी टी20 विश्व कप के दूसरे एडिशन की चैंपियन टीम पाकिस्तान को 2009 के बाद से कामयाबी नहीं मिल सकी है। इस बार ग्रीन आर्मी खिताब जीतने के दावेदार की कतार में नजर आ रही है। बाबर की सेना 2021 में तो सेमीफाइनल में चूक गई लेकिन इस बार को विरोधी पर हमला बोलने और अपने विरोधी को पटखनी देने का पूरा माद्दा रखते हैं।

पाकिस्तान की टीम की संभावना की बात करें तो इस बार उन्हें नंबर-4 पर फेवरेट के रूप में रखा जा सकता है। उनकी सबसे बड़ी मजबूती उनकी गेंदबाजी है, लेकिन बल्लेबाजी में अपने ओपनर्स बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान के फ्लॉप होने पर राह काफी मुश्किल हो सकती है। अब ये देखना दिलचस्प होगा कि ये टीम अपनी इस कमजोरी को कैसे भरती है।

#3. भारत

इस इवेंट की शुरूआती चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम 15 साल से अपने दूसरे खिताब को जीतने क इंतजार कर रही है। ये इंतजार लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बार रोहित शर्मा की अगुवायी में टीम एक बार फिर से मोस्ट कंटेडर मानी जा रही है। टीम इंडिया में वो हर बात दिख रही है, जो एक चैंपियन बनने के लिए जरूरी है, टीम की बल्लेबाजी में जो गहरायी है, वो वाकई में काफी कमाल की है। रोहित, राहुल, विराट, सूर्या जैसे स्टार्स बल्लेबाजों की फौज है तो फिनिशर के रूप में कार्तिक, हार्दिक, और पंत भी हैं।

लेकिन टीम जहां कमजोर दिख रही है, वो गेंदबाजी है, क्योंकि जसप्रीत बुमराह टीम में मौजूद नहीं है। ऐसे में उनके बिना गेंदबाजी में वो धार नहीं है जो उन्हें सपूर्ण दावेदार बनाती है। कहीं ना कहीं भारतीय टीम को अपने मौजूद गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी और हर्षल पटेल जैसों को कुछ बड़ा करना होगा। इस स्थिति में टीम को खिताब के लिए दावेदार में नंबर-3 पर रखा जा सकता है।

ये भी पढ़ें: T20WC 2022: टी20 वर्ल्ड कप 2022 के तीसरे ही दिन पहली हैट्रिक, भारतीय मूल के इस गेंदबाज ने किया कमाल

#2. इंग्लैंड

आईसीसी के इवेंट में इंग्लिश क्रिकेट टीम को भी हर बार मोस्ट फेवरेट के तौर पर ही देखा जाता है। इंग्लैंड क्रिकेट टीम इस बार के टी20 विश्व कप में भी अपने मौजूदा प्रदर्शन और टीम के तालमेल के हिसाब से चैंपियन बनने की काबिलियत रखती है। इस टीम की कमान जहां विस्फोटक बल्लेबाज जोस बटलर के हाथ में है। वहीं टीम में एक से बढ़कर एक खतरनाक बल्लेबाज मौजूद हैं। टीम की गेंदबाजी में भी गहरायी है, जहां बेन स्टोक्स, लाइम लिविंगस्टोन, मोइन अली और सैम कुरेन जैसे ऑलराउंडर्स मजबूत बनाते हैं।

टीम के लिए बस एक कमजोरी दिखती है, वो है बड़े मुकाबलों में बिखर जाना। अगर इन्होंने उस कमजोरी से पार पा लिया तो इनका खिताब जीतना कोई नहीं रोक सकता है। ऐसे में जोस बटलर एंड कंपनी को दावेदार की सूची में नंबर-2 कहे तो गलत नहीं होगा।

#1. ऑस्ट्रेलिया

आईसीसी क्रिकेट के किसी भी बड़े इवेंट में सबसे पावरफुल टीम में से एक मानी जाने वाली ऑस्ट्रेलिया को कभी भी नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है। कंगारू टीम अपनी शैली और संतुलन से हर बार हर टूर्नामेंट में बहुत ही खतरनाक साबित होती है। इसी तरह से टी20 विश्व कप के इस 8वें संस्करण में भी इस टीम को सबसे बड़ा फेवरेट माना जा रहा है।

इसके कई कारण सामने आते हैं। एक तो खुद ऑस्ट्रेलिया अपनी कंडिशन में खेलने जा रही है, इसके अलावा 2021 में डिफेंडिंग चैंपियन होने के नाते भी उनका दावा मजबूत दिख रहा है। रही बात बात के कॉम्बिनेशन की तो ऑस्ट्रेलिया की टीम यहां काफी संतुलित दिख रही है। जिनके पास बल्लेबाजी से लेकर गेंदबाजी और ऑलराउंडर्स की भरमार है। ऐसे में कंगारू टीम को दावेदार की कतार में नंबर-1 पर खड़ा किया जा सकता है।