Home क्रिकेट IPL 2023: आईपीएल के 16वें सीजन से पहले विराट कोहली ने कप्तानी...

IPL 2023: आईपीएल के 16वें सीजन से पहले विराट कोहली ने कप्तानी छोड़ने को लेकर किया खुलासा, बताया क्यों मान ली कप्तानी से हार

105

IPL 2023:  इंडियन प्रीमियर लीग एक ऐसा मंच हैं जहां किसी भी खिलाड़ी के लिए किसी टीम का नेतृत्व करना कितनी चुनौतीपूर्ण होता है, ये बात दिग्गज कप्तान विराट कोहली से बेहतर कोई नहीं जानता है। इस मेगा टी20 लीग के इतिहास में करीब 8 साल तक विराट कोहली ने कप्तानी की। विराट ने टीम इंडिया को अपनी अगुवायी में एक से एक कामयाबी दिलायी लेकिन वो रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम को अपनी कप्तानी में इतने लंबे समय में भी एक भी टाइटल नहीं दिला सके और आखिरकार उन्होंने कप्तानी से हार मानते हुए 2021 में अपने आपको कप्तानी से अलग कर दिया।

IPL 2023
IPL 2023

विराट कोहली ने बताया क्यों छोड़ी थी आरसीबी की कप्तानी

विराट कोहली एक बार फिर से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम में खेलने को तैयार हैं, जो इस बार एक बतौर जिम्मेदार बल्लेबाज हैं, वहीं टीम की कमान फाफ डू प्लेसिस संभाल रहे हैं। विराट कोहली एक फाइटर प्लेयर हैं, जो एक बल्लेबाज और एक कप्तान के तौर पर हमेशा ही बहुत ही सकारात्मता के साथ मैदान में होते हैं, लेकिन आखिर ऐसा क्या हुआ कि उन्होंने कप्तानी छोड़ने का मन बनाया और तत्काल प्रभाव से कप्तानी छोड़ी ये वाकई में अभी तक पहेली था।

ये भी पढ़े- RR vs RCB IPL 2022: हर्षल पटेल के हरकत ने खेलभावना को किया शर्मसार, विराट कोहली की खराब फॉर्म

विराट कोहली का कप्तानी छोड़ने की वजह का खुलासा

लेकिन इस पहेली पर अब खुद विराट कोहली ने ही सुलझा दिया है। आरसीबी के पूर्व कप्तान विराट कोहली ने आरसीबी की कप्तानी क्यों छोड़ी इसका खुलासा कर दिया है। उन्होंने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले वनडे मैच से ठीक पहले आरसीबी की महिला टीम को इस्ट्रेक्शन करने पहुंचे थे, जहां उन्होंने कप्तानी छोड़ने को लेकर खुलकर अपनी बात रखी।

खुद से उठा था भरोसा, इसलिए छोड़ दी कप्तानी

विराट कोहली ने इस दौरान बताया कि उनमें खुद से भरोसा उठ गया था और उनके कप्तानी जज्बे में कमी आ गई थी इसी कारण कप्तानी छोड़ दी। उन्होंने कहा कि ‘‘जिस समय मेरी कप्तानी का कार्यकाल समाप्त हो रहा था, ईमानदारी से कहूं तो मुझे खुद पर ज्यादा भरोसा नहीं था. इसे लेकर मेरे अंदर कोई जज्बा नहीं बचा था.’’

पूर्व आरसीबी कप्तान ने आगे कहा,  ‘‘वह हालांकि मेरा अपना नजरिया था, एक व्यक्ति के तौर पर मैं खुद से कह रहा था कि मैंने काफी उतार-चढ़ाव झेले हैं अब इसे और नहीं संभाल सकता हूं । “

2019 में अंत तालिका में आखिरी पायदान रहने पर कहा  अगले सत्र (2020) में टीम में नये खिलाड़ी जुड़े, उनके पास नये विचार थे और यह एक और मौके की तरह था. वे काफी रोमांचित थे, व्यक्तिगत तौर पर हो सकता है कि मैं उतना उत्साहित नहीं था लेकिन उनकी सकारात्मक ऊर्जा से हम लगातार तीन साल प्लेऑफ में पहुंचे.’’

उन्होंने कहा,  ‘‘ हम हर सीजन की शुरुआत उसी उत्साह के साथ करते हैं जो पहले था। मैं अब भी उत्साहित महसूस कर रहा हूं। टीम को सफलता दिलाना एक सामूहिक जिम्मेदारी है,  अगर किसी के आत्मविश्वास में कमी होती है तो दूसरे खिलाड़ी उसका हौसला बढ़ाते हैं।