BUMRAH-JADEJA
BUMRAH-JADEJA(Source_Hindustan Times)

भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर होने वाले आईसीसी टी20 विश्व कप के लिए पहुंच चुकी है। रोहित शर्मा की अगुवायी में टीम गुरुवार को वहां पर पहुंचने के बाद शुक्रवार को तैयारियों में भी जुट गई है। 2007 के बाद से अब तक टी20 विश्व कप जीत पाने में नाकाम रही भारतीय टीम पर इस बार काफी ज्यादा उम्मीदें हैं, जिस पर खरा उतरने के लिए टीम अपने लगभग सभी बड़े मैच विनर के साथ तैयार हैं।

विश्व कप टीम के साथ जडेजा-बुमराह का ना होना बड़ा नुकसान

ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप के इस महाकुंभ में टीम विराट, रोहित, सूर्यकुमार यादव, केएल राहुल, हार्दिक पंड्या जैसे तमाम बड़े नामों के साथ गई हुई है, लेकिन फैंस और क्रिकेट एक्सपर्ट पिछले कुछ साल से टीम के दो सबसे बड़े मैच विजेता खिलाड़ी रहे रवीन्द्र जडेजा और जसप्रीत बुमराह को भूल नहीं पाएं हैं।

भारत के ये दोनों ही अनुभवी खिलाड़ी जबरदस्त काबिलियत रखते हैं, जो अपना दिन होने पर अकेले दम पर मैच जीताने की क्षमता रखते हैं, लेकिन दोनों ही दिग्गज इस बड़े टूर्नामेंट से पहले टीम से बाहर हो चुके हैं, जो रोहित शर्मा एंड कंपनी के लिए बहुत बड़ा झटका है।

बुमराह-जडेजा के ना होने पर रवि शास्त्री का बड़ा बयान

भारत के स्टार ऑलराउंडर खिलाड़ी रवीन्द्र जडेजा जहां एशिया कप के दौरान ही घुटने में चोट खा बैठे, जिसके बाद उनके रिप्लेसमेंट के तौर पर अक्षर पटेल को चुना गया। वहीं जसप्रीत बुमराह को काफी लंबे समय से बैक इंजरी है, जो एक बार फिर से उभर गई है, ऐसे में वो भी टीम से दूर हो गए हैं, जिनका रिप्लेसमेंट अब तक नहीं चुना गया है।

हर किसी को इन दो स्टार खिलाड़ियों के ना होने से टीम इंडिया के चांस थोड़े कम लग रहे हैं, लेकिन भारत के पूर्व दिग्गज कोच रवि शास्त्री मानते हैं कि इन दोनों खिलाड़ियों का ना होना बड़ा झटका जरूर हैं, लेकिन हमारे पास नए चैंपियन को ढूंढने का मौका भी है।

रवि शास्त्री ने दिया बयान, हमारे पास है नए चैंपियन को ढूंढने का मौका

ईएसपीएन क्रिकइंफो के साथ बात करते हुए कहा कि, “यह दुर्भाग्यपूर्ण है। इतना क्रिकेट खेला जा रहा है, और खिलाड़ी चोटिल हो जाते हैं। बुमराह चोटिल हैं, लेकिन यह किसी और के लिए एक मौका है। चोट को लेकर आप कुछ नहीं कर सकते।”

मुझे लगता है कि हमारे पास पर्याप्त स्ट्रेंथ है और हमारे पास एक अच्छी टीम है। मेरा हमेशा से मानना है कि अगर आप सेमीफाइनल में पहुंचते हैं, तो यह किसी का भी टूर्नामेंट हो सकता है। प्रयास अच्छी शुरुआत करने, सेमीफाइनल में पहुंचने और फिर आप सभी जानते हैं कि शायद कप जीतने के लिए आपके पास पर्याप्त ताकत है। बुमराह का नहीं होना, जडेजा का नहीं होना टीम के लिए परेशानी का विषय है, लेकिन यह एक नए चैंपियन को ढूढ़ने का मौका भी है।