Shaheen AFridi
Shaheen & Hasnain (Source_Zee News)

ASIA CUP 2022: एशिया क्रिकेट के सबसे बड़े इवेंट एशिया कप के 15वें संस्करण की उलटी गिनती चल रही है। अब से कुछ ही दिनों के बाद एशिया कप का आगाज़ होने जा रहा है। 27 अगस्त से श्रीलंका और अफगानिस्तान के बीच मैच के साथ बिगुल बजेगा, लेकिन इसकी टूर्नामेंट की वास्तविक शुरुआत 28 अगस्त को भारत और पाकिस्तान के बीच मैच के साथ मानी जा रही है।

शाहिन अफरीदी से भी खतरनाक गेंदबाज हैं पाक खेमे में

विश्व क्रिकेट की दो सबसे चिर प्रतिद्वंद्वी टीम भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले इस महामुकाबले का फैंस तो बेसब्री से इंतज़ार है, साथ ही दोनों ही टीमों के खिलाड़ी भी इस मुकाबले को लेकर बहुत ही उत्सुक हैं। दोनों ही टीमों के कुछ अहम खिलाड़ी इस मैच में नज़र नहीं आने वाले हैं।

जिसमें पाकिस्तान की तरफ से तेज गेंदबाज शाहिन शाह अफरीदी का नाम है, जो चोटिल होकर बाहर हो गए हैं। शाहिन के बाहर होने के बाद क्रिकेट पंडितों ने इसे भारत के लिए राहत की खबर बतायी थी।

शाहिन के स्थान पर मिला है युवा मोहम्मद हसनैन को मौका

लेकिन पाकिस्तान के खेमे में शाहिन के स्थान पर जिस तेज गेंदबाज को शामिल किया है वो उनसे भी खतरनाक साबित हो सकता है। पीसीबी की चयन समिति ने शाहिन के चोटिल होने के बाद एक 22 वर्षीय तेज गेंदबाज को जगह दी, जिसने अपनी रफ्तार से बल्लेबाजों की नींद उड़ा कर रखी है।

हसनैन ने अपनी रफ्तार से बजायी भारत के लिए खतरें की घंटी

हम यहां पर रिप्लेसमेंट के तौर पर जुड़े मोहम्मद हसनैन की बात कर रहे हैं। इस पाकिस्तानी युवा गेंदबाज ने पिछले कुछ दिनों से इंग्लैंड में खेली जा रही द हंड्रेड लीग में जबरदस्त धमाल मचा कर रखा है। वो लगातार 145 किमी प्रतिघंटे से भी ज्यादा रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे हैं।

द हंड्रेड लीग में हसनैन ओवल इन्विन्सिबल की टीम से खेल रहे हैं। जिसमें उन्होंने अंतिम मैच में बर्मिंघम फोनिक्स के खिलाफ 149 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार दर्ज करायी। वो लगातार बहुत ही तेज गति से गेंदबाजी कर रहे हैं। वो इस सीजन में 5 मैचों में 6 विकेट झटक चुके हैं। अब उन्हें पाक टीम में चुन लिया गया है, ऐसे में कहीं ना कहीं भारत के लिए वो खतरें की घंटी बजा रहे हैं, जिससे भारतीय टीम को सावधान रहना होगा।

मोहम्मद हसनैन पर पिछले साल इसी लीग के दौरान आईसीसी ने एक्शन को लेकर बैन लगा दिया था। जिसके बाद उन्होंने अपने एक्शन पर काम किया और फिर से इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी की।