Home क्रिकेट भारतीय खिलाड़ियों की खुली लॉटरी, अब IPL के साथ इस टूर्नामेंट में...

भारतीय खिलाड़ियों की खुली लॉटरी, अब IPL के साथ इस टूर्नामेंट में खेलने के लिए भी BCCI देगी लाखों रुपये

212

BCCI : बीसीसीआई (BCCI) के द्वारा साल 2023-24 के क्रिकेटिंग सीजन के लिए 30 खिलाड़ियों को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट प्रदान किया गया है. साल 2023-24 के लिए बीसीसीआई के द्वारा कम से कम एक खिलाड़ी को 1 करोड़ की राशि प्रदान की जा रही है लेकिन बीसीसीआई प्रति अनुमानित तौर पर 30 खिलाड़ियों को ही साथ सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट प्रदान करता है.

BCCI

इसके अलावा जो भी भारतीय खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट में खेलते है तो उनके पास अपना फ्यूचर सिक्योर करने के लिए आईपीएल का ही विकल्प बचता है लेकिन सभी भारतीय खिलाड़ियों को आईपीएल में करोड़ो रुपये नहीं मिलते है लेकिन हाल ही में बीसीसीआई (BCCI) ने एक ऐसा फैसला किया है जिसके बाद ऐसा माना जा रहा है कि अब भारतीय खिलाड़ियों को बीसीसीआई के द्वारा सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट भी प्राप्त नहीं होता है तो उसके बावजूद यह खिलाड़ी लाखों रुपए कमा सकते है.

फर्स्ट क्लास खेलने वाले खिलाड़ियों की सैलरी में होगा इज़ाफ़ा

BCCI

टीम इंडिया के लिए इंटरनेशनल लेवल पर एक साल में टेस्ट क्रिकेट के अंदर 20 से 25 खिलाड़ियों को मौका मिलता होगा उनके अलावा लगभग 500 खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट में टीम इंडिया में चांस प्राप्त करने के लिए फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलते होंगे लेकिन फर्स्ट क्लास क्रिकेट का एक सीजन खेलने पर खिलाड़ियों को 25 लाख रुपए प्राप्त होते है.

ऐसे में अगर कोई खिलाड़ी अगर फर्स्ट क्लास क्रिकेट का एक भी मुक़ाबला मिस कर देता है तो वो उनके लिए काफी महंगा साबित होता है. इसी चीज के चलते बीसीसीआई ने खिलाड़ियों को फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अधिक ध्यान देने और खिलाड़ियों को इस फॉर्मेट में खेलने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए इन खिलाड़ियों की सैलरी में इज़ाफ़ा किया है.

यह भी पढ़े : IPL 2024 से पहले LSG को बड़ा झटका, कप्तान राहुल ने छोड़ा टीम का साथ, अब इस खिलाड़ी को मिलेगी बड़ी ज़िम्मेदारी

तीन गुना हो सकती है फर्स्ट क्लास खेलने वाले खिलाड़ियों की सैलरी

मीडिया में आई रिपोर्ट्स के अनुसार बीसीसीआई (BCCI) साल 2024-25 के क्रिकेटिंग सीजन में घरेलू क्रिकेट में एक खिलाड़ी के प्रति मैच फीस को तीन गुना बढ़ाने का फैसला है. अगर ऐसा होता है तो कोई खिलाड़ी अगर प्रति वर्ष अपनी घरेलू टीम के लिए 10 मुक़ाबले भी खेलता है तो वो खिलाड़ी फर्स्ट क्लास खेलकर प्रति वर्ष 75 लाख रुपए कमा सकता है. अगर ऐसा हो जाता है तो खिलाड़ी फर्स्ट क्लास क्रिकेट को प्राथमिकता देते है उन खिलाड़ियों के पास आईपीएल (IPL) में बिकने की किसी भी प्रकार की चिंता नहीं होगा और यह खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट में बिना किसी चिंता के रनों का अंबार लगा सकते है.

यह भी पढ़े : IPL 2024 से पहले LSG के लिए आई बड़ी खुशखबरी, फ्रेंचाइजी के इस फैसले के चलते पहली बार टीम बन सकती है चैंपियन