Home क्रिकेट IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टी20 मैच के हीरो रहे...

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टी20 मैच के हीरो रहे अक्षर पटेल ने वर्ल्ड कप से दूर रहने का बयां किया दर्द

2207

IND vs AUS: भारतीय क्रिकेट टीम ने वर्ल्ड कप के फाइनल मैच की हार का गम कुछ हद तक कम कर दिया, जब ऑस्ट्रेलिया को टी20 सीरीज में मात दे दी है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच भारत में खेली जा रही 5 मैचों की टी20 सीरीज में भारत ने चौथे मैच में जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए अपने युवा खिलाड़ियों के साथ ही स्पिनर्स के कमाल के प्रदर्शन के दम पर ऑस्ट्रेलिया को 20 रन से हरा दिया। इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने इस सीरीज में 3-1 की अजेय बढ़त बनाने के साथ ही सीरीज को अपने नाम कर दिया।

IND vs AUS
Axar Patel

अक्षर पटेल और युवा बल्लेबाजों के दम पर टीम इंडिया ने 20 रन से जीता चौथा टी20

रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह स्टेडियम में शुक्रवार को चौथा टी20 मैच खेला गया। इस मैच में भारत के स्टार खिलाड़ी नाकाम रहे, लेकिन युवा बल्लेबाज रिंकू सिंह के 29 गेंद में 46 रन की पारी और साथ ही इस सीरीज में पहला मैच खेल रहे विकेटकीपर बल्लेबाज जितेश शर्मा के 19 गेंद में 35 रनों की तूफानी पारियों के दम पर पहले खेलते हुए 20 ओवर में 9 विकेट पर 174 रन का स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम को अक्षर पटेल की खतरनाक फिरकी गेंदबाजी 4 ओवर में 16 रन खर्च कर 3 विकेट की मदद से 20 ओवर में 7 विकेट पर 154 रन के स्कोर पर ही रोकते हुए शानदार 20 रनों से जीत दर्ज की।

IND vs AUS
Team India

ये भी पढ़े-India tour of South Africa: दक्षिण अफ्रीकी दौरे के लिए टीम इंडिया का हुआ ऐलान, तीनों ही फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तान, देखे फुल स्क्वॉड

प्लेयर ऑफ द मैच अक्षर पटेल ने बताया- वर्ल्ड कप के दौरान घर में कैसे की तैयारी

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस मैच में जबरदस्त गेंदबाजी के बूते प्लेयर ऑफ द मैच अपने नाम करने के बाद प्रेजेंटेशन सेरेमनी में अक्षर पटेल ने कहा कि,“जब मैं घर पर था तो काफी सारी चीजें आजमा रहा था और आज सब कुछ अच्छा हुआ। मैंने अपनी ताकत पर टिके रहने की कोशिश की और वास्तव में मुझे चोट लगने पर भी चिंता नहीं हुई। ओस फैक्टर को नकारने के लिए विकेट टू विकेट गेंदबाजी करना महत्वपूर्ण था।”

अपने आप को मानसिक रूप से बनाए रखा मजबूत- अक्षर पटेल

इसके बाद भारत के इस स्टार ऑलराउंडर खिलाड़ी ने आगे कहा कि, अक्रामक बने रहना और मानसिक रूप से मजबूत रहना महत्वपूर्ण है, क्योंकि इस प्रारूप में हिट होने की पूरी संभावना है। जब आप विकेट लेने के रवैये के साथ जाएंगे तो काफी बेहतर महसूस करेंगे। ब्रेक के दौरान मैंने खुद को बेहतर बनाने पर ध्यान केंद्रित किया और उच्चतम स्तर पर सफल बने रहने के लिए अपनी गेंदबाजी में विविधताएं भी जोड़ी।