Home क्रिकेट आईसीसी क्रिकेट टी20 विश्व कप 2022 T20WC 2022: रोहित शर्मा ने किया 2007 का पहला इवेंट, बताया तब...

T20WC 2022: रोहित शर्मा ने किया 2007 का पहला इवेंट, बताया तब से लेकर अब तक कितना हो गया है बदलाव

1808

विश्व क्रिकेट में साल 2007 में एक जबरदस्त परिवर्तन देखने को मिला जब आईसीसी ने अपने बैनर तले एक नए नवेले फॉर्मेट टी20 क्रिकेट को विश्व स्तरीय टूर्नामेंट में बदला, इस वर्ष क्रिकेट इतिहास का पहला टी20 विश्व कप खेला गया। उस विश्व कप से लेकर अब तक 7 टी20 विश्व कप हो चुके हैं और 8वें एडिशन चंद घंटों की दूरी पर खड़ा है, जिसका आगाज ऑस्ट्रेलिया में 16 अक्टूबर से होने जा रहा है।

Rohit-Sharma T20
Rohit-Sharma T20

रोहित शर्मा 2007 से लेकर अब तक खेल रहे हैं टी20 विश्व कप

पहले टी20 इवेंट और इस बात के टूर्नामेंट में कुछ ऐसे खिलाड़ी हैं, जो खेलते हुए नजर आने वाले हैं, जिसमें एक बड़ा नाम भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रोहित शर्मा हैं। हिटमैन के नाम से विश्वस्तरीय बल्लेबाज बन चुका ये दिग्गज उस भारतीय टीम का हिस्सा था, जब टीम ने खिताब अपने नाम किया था।

उस समय मुंबई का ये बल्लेबाज एक बिल्कुल ही नया चेहरा था, जिसे कोई नहीं जानता था। लेकिन आज वो सर्वकालिन महान टी20 बल्लेबाजों में से एक बन चुके हैं, जिनसे आज के दौर में गेंदबाज खौफ खाते नजर आते हैं।

हिटमैन ने बताया कैसे 2007 से 2022 तक बदल गई हैं चीजें

ऑस्ट्रेलिया में कुछ ही घंटों के बाद शुरू होने जा रहे इस मेगा इवेंट के 8वें संस्करण से ठीक पहले रोहित शर्मा ने अपने पहले टी20 विश्व कप को याद किया। तब अपने करियर के शुरुआती दौर वाला ये दिग्गज आज टीम इंडिया की कप्तानी संभाल रहा है।

ये विस्फोटक बल्लेबाज उन चुनिंदा बल्लेबाजों में से एक हैं, जो हर एक इवेंट में भारतीय टीम का हिस्सा रहा हो। शुक्रवार को भारत के इस स्टार क्रिकेटर ने 2007 की कुछ यादों को साझा किया, जिसमें उन्होंने बताया कि तब से लेकर अब तक कितना बदलाव आ गया है।

भारतीय कप्तान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि, 2007 के बाद से एक लंबा समय हो गया है। जब मुझे विश्व कप के लिए चुना गया था, तो मैं किसी उम्मीद के साथ नहीं गया था। मैं बस आनंद लेना चाहता था, वह मेरा पहला विश्व कप था। जब तक हमने विश्व कप नहीं जीता था तब तक मुझे कोई समझ नहीं थी। वहां से अब तक का सफर लंबा रहा है। खेल विकसित हुआ है, आप उस समय की तुलना में अब के खेल में अंतर देख सकते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि उस समय 140-150 का स्कोर अच्छा माना जाता था। मगर अब टीमें 14-15 ओवर में वहां पहुंचने की कोशिश करती हैं। टीमें अब परिणाम की चिंता किए बिना जोखिम लेती हैं। हमारी टीम भी यही करने की कोशिश कर रही है। यह इस तरह का प्रारूप है जहां जोखिम है, लेकिन उच्च पुरस्कार भी हैं। हम इसे करने के लिए भी तैयार होंगे। 2007 से 2022 तक मेरी यही समझ है। बहुत सी चीजें बदल गई हैं।