Home क्रिकेट आईसीसी क्रिकेट टी20 विश्व कप 2022 T20WC 2022, IND vs SA: भारत को मिली मात की 3 बड़ी...

T20WC 2022, IND vs SA: भारत को मिली मात की 3 बड़ी वजह, समय रहते ढूंढनी होगी काट, नहीं को आगे हो जाएगी दिक्कत

1516

आईसीसी टी20 विश्व कप 2022 में सबसे प्रबल दावेदार के रूप में मानी जा रही भारतीय क्रिकेट टीम के प्रदर्शन में अचानक ही रविवार को गिरावट देखने को मिली। सुपर-12 की जंग में टीम इंडिया ने जोरदार शुरुआत करते हुए अपने पहले दोनों ही मैचों में शानदार जीत हासिल की, लेकिन रविवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे मैच में 5 विकेट की हार से हाल मिली है।

IND VS SA
IND VS SA(Source_ Getty Images)

इस हार के बाद एक बार फिर से टीम इंडिया की कुछ कमियां फिर से उजागर हो गई है, जो इस विश्व कप में आगे की राह में रोड़ा बन सकती है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस मैच में टीम ने कई गलतियां की, जो बाद में हार की वजह बनी। लेकिन कहीं ना कहीं समय रहते ही इन कमियों को भरना होगा, नहीं तो टीम को आने वाले मैचों में दिक्कतें हो सकती है।

तो चलिए आपको बताते हैं वो 3 गलतियां जो बनी हार की खास वजह…

बल्लेबाजों में नहीं हो रहा यूनिट प्रदर्शन

भारतीय टीम की सबसे मजबूत कड़ी बल्लेबाजी यूनिट है। बल्लेबाजी के दम पर को किसी भी मैच को जीतने की क्षमता रखते हैं, लेकिन यही ताकत जब कमजोरी बन जाए तो टीम के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं। इस विश्व कप में ऐसा ही कुछ हो रहा है। जहां बल्लेबाज लगातार एक यूनिट के रूप में काम नहीं कर पा रहे हैं। रोहित शर्मा, केएल राहुल, दिनेश कार्तिक जैसे बल्लेबाज प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं, तो वहीं पिछले मैच में विराट और हार्दिक का बल्ला भी नहीं बोल सका। ऐसे में हर मैच में कम से कम 2 या 3 बल्लेबाजों को बड़ा स्कोर करना ही होगा।

VIRAT & SURYA (Source_Getty Images)

फील्डिंग में साबित हो रहे हैं फिसड्डी

टीम इंडिया के लिए कभी फील्डिंग बहुत अच्छी रहती है, तो कभी ये सबसे बड़ी कमजोरी बन जाती है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी कुछ ऐसा ही हुआ जहां फील्डिंग गले की फांस बनी। जो बाद में हार का कारण भी रही। टीम के फील्डर्स को ज्यादा से ज्यादा कैच करने होंगे और रन आउट के बन रहे मौकों को भी भुनाना ही होगा। इस विभाग में अगर सुधार होता है तो भारत के लिए राह आसान बन जाएगी।

आर अश्विन को झोंकना होगा अपना अनुभव

भारत ने इस विश्व कप में एक बार फिर से अपने सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज आर अश्विन पर भरोसा जताया। उन्हें इस बार प्लेइंग-11 में भी लगातार मौका दिया जा रहा है, लेकिन वो ऐसा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं, जैसा उनका नाम है। वो दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तेज गेंदबाजों के द्वारा बनाया गया दबाव कायम नहीं रख सके और 4 ओवर में 43 रन दे डाले। उन्हें अपनी गेंदबाजी में और भी बेहतर प्रदर्शन कर तेज गेंदबाजों का साथ देना होगा। तभी बात बनेगी।