Asia Cup 2022
Asia Cup 2022

ASIA CUP 2022: ऑस्ट्रेलिया में होने वाले आईसीसी 20 विश्व कप के महाकुंभ से पहले क्रिकेट फैंस को टी20 का एक जबरदस्त रोमांच कुछ ही दिनों में दिखने वाला है। एशिया क्रिकेट टीमों के बीच इस रोमांच का तड़का 27 अगस्त से लगने वाला है। इस जायकेदार तड़के का लुत्फ उठाने के लिए क्रिकेट फैंस काफी उत्साहित है। जो एशिया कप में इस बार गेंदबाजों और बल्लेबाजों के बीच बराबरी के मुकाबलें की उम्मीद कर रहे हैं।

एशिया कप में इस बार नहीं दिखेगा रोमांच!

लेकिन एशिया कप में फैंस की इन उम्मीदों का लगातार झटके लग रहे हैं। क्योंकि जैसे-जैसे एशिया कप के 15वें संस्करण की तारीख करीब आती जा रही है, वैसे-वैसे ही गेंद और बल्ले के बीच मुकाबले का संतुलन बिगड़ता जा रहा है।

अब आपके मन में अब ये सवाल हिचकोले मारने लग रहा होगा, कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि बल्लेबाजों और गेंदबाजों के बीच मुकाबले में कोई रोमांच नहीं रहेगा। तो अब हम इस पूरी रिपोर्ट में इस बात से पर्दा हटा ही देते हैं।

बल्लेबाजों की होने वाली है बल्ले-बल्ले

दरअसल करीब 4 साल के बाद खेले जा रहे एशिया कप को लेकर फैंस बहुत ही बेसब्री से इंतजार कर रहे थे, लेकिन इस बार पिछले कुछ दिनों में एक के बाद एक कई गेंदबाज दूर होते जा रहे हैं, जिससे बल्लेबाजों को खूब फायदा होने वाला है।

एशियाई क्रिकेट टीमों के इस सबसे बड़े इवेंट में इस बार एक के बाद एक कईं स्टार तेज गेंदबाज बाहर होते जा रहे हैं। जिसका एक सीधा फायदा बल्लेबाजों को होगा। बल्लेबाज एक के बाद एक तेज गेंदबाजों के बाहर होने से राहत की सांस ले रहे होंगे।

एक के बाद एक कईं बड़े गेंदबाज हुए बाहर

इस टूर्नामेंट के लिए सबसे पहले भारतीय क्रिकेट के दो स्टार तेज गेंदबाज बाहर हुए। जिसमें पहले तो दिग्गज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को चोट के चलते बाहर होना पड़ा तो साथ ही भारत के लिए टी20 फॉर्मेट में डेथ ओवर्स के स्पेशलिस्ट बनते जा रहे हर्षल पटेल भी बाहर हो गए। इन दोनों ही तेज गेंदबाजों के एशिया कप में नहीं खेलना का लाभ विरोधी टीमों के बल्लेबाजों को मिल सकता है।

इसके बाद पिछले ही दिनों पाकिस्तान क्रिकेट टीम के स्ट्राइक गेंदबाज शाहिन शाह अफरीदी को भी चोट लग गई। जिसके बाद वो भी पूरे एशिया कप से ही दूर हो गए। शाहिन शाह अफरीदी का बाहर होना जहां पाकिस्तान के लिए बहुत बड़ा झटका है, वहीं बाकी टीमों को लिए ये बहुत बड़ा सुकून होने वाला है।

इसके बाद सोमवार को मेजबान श्रीलंकाई टीम को भी अपने सबसे अच्छे तेज गेंदबाज दुष्मंथा चमीरा से हाथ धोना पड़ा। चमीरा इस टीम के सबसे काबिल गेंदबाज थे, लेकिन वो भी इंजरी की फांस में फंस गए और इस टूर्नामेंट से ही बाहर हो गए।

ऐसे में इस बड़े टूर्नामेंट में प्रमुख टीमों के 4 स्टार तेज गेंदबाजों के इंजरी के कारण दूर होने से साफ तौर पर कहा जा सकता है कि बल्लेबाजों को जबरदस्त राहत मिलेगी। जिससे इन मैचों में खूब रन बनते देखे जा सकते हैं।